Physical Address

Kotra road Raigharh (C.G.) 496001

बीमारियों से लड़ने की ताकत देगी ये आयुर्वेदिक औषधियां, आयुर्वेद में इम्यूनिटी। Ayurvedic Ilaj In Hindi.

Ayurvedic Immune Support In Hindi.
Ayurvedic Immune Support In Hindi.

Immunity System In Ayurveda In Hindi.आयुर्वेद में इम्यूनिटी बूस्टर का होना।

प्राचीन सभ्यता, पुरातत्व विज्ञान के आधार पर आयुर्वेदिक चिकित्सा जीवन जीने के विज्ञान को कहते हैं। आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति के जनक भगवान धन्वन्तरी को माना जाता हैं। Ayurvedic Ilaj In Hindi.

जीवन के विज्ञान होने के नाते स्वास्थ्य व खुशमय प्राकृतिक रूप से आयुर्वेद में मिलता हैं। आयुर्वेदिक के उपयोग से शरीर के प्रतिरक्षा सिस्टम बहुत मजबूत होता हैं। आयुर्वेदाचार्यों द्वारा आयुर्वेद में इम्यूनिटी सिस्टम बढ़ाने के लिए सोध व अनुसंधान से शानदार रिजल्द आये हैं।

खाना पकाने में हल्दी, जीरा, धनिया, लहसून, काली मिर्च जैसे मसालों व कुछ जड़ीबूटी के उपयोग करते हूँ। इनके उपयोग से कमाल की इम्यूनिटी सिस्टम बढ़ाने में मदद मिला हैं और वाइरस से लड़ने में कारगर साबित हुआ हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय। Home Remedies To Increase Immunity In Hindi. 

i) आंवला (Amla) : आँवल एक फल होने के साथ-साथ आयुर्वेद में इम्यूनिटी बूस्टर के लिए शानदार दवाई भी हैं। जिसके उपयोग करने से इम्यूनिटी सिस्टम को फायदे होते हैं। आँवल में विटामिन-सी (एस्कॉर्बिक एसिड) प्रचुर मात्र में रहता हैं। 50 ग्राम आंवले में संतरे से 5 से 15 गुना अधिक विटामिन-सी होता है।

विटामिन-सी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और इस प्रकार यह हमारे शरीर में वायरल और बैक्टीरियल बीमारियों को रोकने में मदद करता है। विटामिन-सी से भरपूर भोजन को कच्चे, अचार के रूप में, मुरब्बा के रूप में या लिक्विड फार्म में जूस बनाकर लिया जा सकता है।

ii) गिलोय (Giloy) : गिलोय इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने व फिजिकल शरीर को स्वास्थ्य रखने में मदद करता हैं। इनका उपयोग करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण होता हैं। इसमें एंटी-लेप्रोटिक और मलेरिया-रोधी गुण भी मौजूद होते हैं। गिलोय का आयुर्वेद खास स्थान हैं।

गिलोय को बेल के पत्ती भी कहा जाता हैं। इसके पत्ते आयुर्वेद दवाइयों के लिए उपयोग किया जाता हैं। यह एक शक्तिशाली इम्युनोमोड्यूलेटर है। गिलोय में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। इसमें ग्लूकोसाइड, फास्फोरस, कॉपर, कैल्शियम, जिंक और मैग्निशियम जैसे मिनरल्स भी होते हैं जो प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में खासे मदद करता हैं। संक्रामण रोगो से लड़ता हैं।

iii) भारतीय मसालों में प्रतिरक्षा तंत्र। Immune System In Indian Spices: भारतीय मसालों में हल्दी, लहसुन, अदरक, दालचीनी, कालीमिर्च, हिंग, धनिया, आदि मिलकर बना होता हैं। स्वादिस्ट के साथ-साथ जायकेदार भी होता हैं। यह शरीर के इंटरनल सिस्टम को सुरक्षित रखने में सहायता प्रदान करता हैं।

इसमे एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। यह शरीर के भीतर सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को भी उत्तेजित करता है और एक एंटीऑक्सीडेंट भी है। जिस कारण इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होता हैं। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लेमटरी काफी होता है।

दालचीनी में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। हिंग में एंटीबायोटिक, एंटीवायरल, एंटीइंफ्लेमेटरी जैसे गुणों से भरपूर होता हैं। काली मिर्च में काफी मात्रा में एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट्स तत्व होते हैं, जो इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करते हैं। इस प्रकार भारतीय मसालें में प्रतिरोधक क्षमता होने के कारण शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

iv) हल्दी और काली मिर्च (Turmeric And Black Pepper) : हल्दी में शक्तिशाली यौगिक प्रदार्थ पाये जाते हैं। इसलिए हल्दी को मानव के लिए प्राकृतिक का देन कहा जाता हैं और हल्दी में काली मिर्च मिल जाए तो वह इम्युनिटी सिस्टम बूस्ट करने के लिए नील के पत्थर साबित होता हैं।

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लेमटरी काफी होता है। इस कारण से इसमे प्रतिरोथक छमता बहुत अच्छा होता हैं और उसमे काली मिर्च मिल जाये तो अनेक प्रकार के रोगों से बचाने का काम करता हैं।

काली मिर्च में पीपरिन नामक तत्व होता है जो हल्दी के साथ मिलकर शरीर में करक्यूमिन के काम को बढ़ाने में मदद करता है। कर्क्यूमिन में एंटीसेप्टिक, एंटी इंफ्लेमेटरी और जीवाणुरोधी गुण होते हैं। इस कारण से इम्युनिटी सिस्टम को स्ट्राग बनाता हैं।

इन्हें भी पढ़ें – नीम के पत्ते के फायदे इन हिंदी.

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएं। What To Eat To Increase Immunity In Hindi.

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएँ? यह सभी के लोगों द्वारा सवाल पूछे जाते हैं आप क्लियर कट जान ले कि इम्यूनिटी बूस्टर के लिए फूडखट्टे फल इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिये सबसे अच्छा होता हैं, जैसे-आप अपनी डाइट में संतरा, नींबू, कीवी जैसे फलों को शामिल कर इम्यूनिटी को तेजी से बढ़ा सकते हैं।

आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए निम्नलिखित चीजों को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं, नीचे कुछ खाद्य पदार्थ, खट्टे फल और आवश्यक पोषक तत्व दिए गए हैं।

  • फल और सब्जियाँ जो खाने में सामिल कर सकते हैं: जैसे पालक, टमाटर, गोभी, गाजर, सेब, संतरा, आम, शिमला मिर्च और इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए सब्जियाँ को आहार में ले सकते हैं।
  • दालें आप शामिल कर सकते हैं: उड़द दाल, मूंग, चना, अरहर, मसूर और अन्य जैसी दालें भी शरीर को आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करके प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती हैं।
  • दूध और दूध से बने उत्पाद आपको भरपूर पोषण देते हैं: दूध, दही, पनीर और छाछ प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं क्योंकि ये विटामिन डी और प्रोबायोटिक्स से भरपूर होते हैं। इसके अलावा, पर्याप्त पानी पीना, नियमित व्यायाम करना, पर्याप्त नींद लेना और तनाव को कम करने का प्रयास करना भी इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

इम्युनिटी पावर कैसे बढ़ाएँ घरेलू उपाय। How To Increase Immunity Power, Home Remedies In Hindi.

इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे दिये हैं जिनके इस्तेमाल आपको और आपके परिवार को करना चाहिए। नीचे कुछ अच्छी जानकारी दी गई है जिसे आपको अवश्य पढ़ना चाहिए।

  • अच्छे आहार की योजना बनाएँ: विटामिन सी, विटामिन डी, जिंक, प्रोटीन, विटामिन सेलेनियम और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर आहार खाने की कोशिश करें।
  • पौष्टिक आहार जो आप ले सकते हैं: दालें, दूध, दही, नट्स, हरी सब्जियाँ, फल, अनाज और अन्य पौष्टिक खाद्य पदार्थ।
  • व्यायाम को आदत बनाएँ: नियमित रूप से योग या व्यायाम करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।
  • पूरी नींद लेना है जरूरी: रात में 7-8 घंटे की पूरी नींद लेने से भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • प्राकृतिक उपचार के रूप में घरेलू वस्तुओं का उपयोग करें: हल्दी, गुड़, अदरक, लहसुन, शहद, तुलसी और अन्य घरेलू उपचार प्रतिरक्षा बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

यदि आपकी स्वास्थ्य स्थिति में कोई गंभीर समस्या है, तो कृपया अपने स्वास्थ्य विशेषज्ञ से परामर्श लें।

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले ड्राई फ्रूट। Immunity Enhancing Dry Fruits In Hindi.

इम्यूनिटी बढ़ाने वाले ड्राई फ्रूट को उपयोग में लाना चाहिए जिसमें बहुत सारे पोषक तत्वों से भरा हुआ आहार मिले। हमारे देश में हर मौसम में अलग-अलग सूखे मेवे मिलते हैं जो शारीरिक संरचना के लिए जरूरी हो जाते हैं।

यह ड्राई फ्रूट शरीर को मजबूत बनाने और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए बहुत जरूरी है। नीचे कुछ ड्राई फ्रूट्स के नाम दिए गए हैं, कृपया एक बार पढ़ें और जानें कि ड्राई फ्रूट्स क्या होते हैं।

जैसे कि किशमिश, खजूर, अंजीर, बादाम, काजू, अखरोट और खुबानी में विटामिन, खनिज, एंटीऑक्सीडेंट से भरे होते हैं जिसमें पोषक तत्व प्रचुर मात्र में होते हैं।

इनके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत तेजी से बढ़ती है। इसके नियमित सेवन से आप अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत और स्वस्थ रख सकते हैं।

निष्कर्ष:

आयुर्वेद में व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए विभिन्न जड़ी-बूटियों, रसायनों और प्राकृतिक उपचारों का उपयोग किया जाता है।

प्राकृतिक उपचार को बढ़ावा देने के लिए आहार, व्यायाम, ध्यान और आयुर्वेदिक चिकित्सा का उपयोग किया जाता है। इस तरह शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने लगती है जो विभिन्न प्रकार की बीमारियों से लड़ने में मदद करती है।

S.K.Yadav cg
S.K.Yadav cg
Articles: 8

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *